தலைக்கு பத்வா போட்ட மதவெறி பிடித்த தௌகீர் ரஸா கான் “இந்து-முஸ்லிம்” ஒற்றுமை, பசுவதை முதலியவற்றை ஆதரித்து போராடப் போகிறாராம்!

தலைக்கு பத்வா போட்ட மதவெறி பிடித்த ட்தௌகீர் ரஸா கான் “இந்து-முஸ்லிம்” ஒற்றுமை, பசுவதை முதலியவற்றை ஆதரித்து போராடப் போகிறாராம்!

Acharya Pramod Krishan with Baba Ram dev

பத்வா மௌலானாவின் விவரங்கள்: தௌகீர் ராஸா கான், இதிஹாத்-இ-மில்லத் கவுன்சில் [ Ittehad-e- Millat Council] என்ற தீவிரகருத்துக்களைப் பரப்பி வரும் இயக்கத்தின் தலைவர். என்ற அடிப்படை முஸ்லிம் ஏற்கெனவே கலவரங்களைத் தூண்டி விட்டதற்காக கைது செய்யப்பட்டு சிறையிலடைக்கப் பட்டவர். புஸ்ஸின் தலைக்கு ரூ ஒரு கோடி என்று அறிவித்து பத்வா போட்டவர். அதாவது, தஸ்லிமா நஸ் ரீன் இஸ்லாமுக்கு எதிராக எழுதினார் என்ற காரணத்திற்காக, அயத்துல்லா கோமேனி மாதிரி, தண்டனை விதித்து, யாராவது அவரைக் கொன்று தலை வெட்டிக் கொண்டு வந்தால் பணம் கொடுக்கப்படும் என்று அர்த்தமாம். அதே மாதிரி, பிறகு தஸ்லிமா நஸ் ரீன் என்ற பங்களாதேச தலைக்கு ரூ 5 லட்சம் என்று அறிவித்தவர். இப்படி பத்வா போட்டு பிரபலமாகியதால், இவரை “பத்வா மௌலானா” என்றே அழைக்கப் படுகிறார்.

after-kejriwal-digvijaya-singh-praises-tauquir-raza-khan

அரவிந்த் கேசரிவால் தௌகீர்ராஸாகானை சந்தித்தது:  ஒன்பது நாட்களுக்கு முன்னர் 01-11-2013 அன்று அரவிந்த் கேசரிவால் என்கின்ற “ஆம் ஆத்மி கட்சி”த் தலைவர், இந்த கம்யூனல், அடிப்படைவாத, தீவிரவாத கொள்கைளைக் கடைப்பிடிக்கும் மௌலானாவை பிரெய்லியில் சந்தித்து தங்கள் கட்சிற்காக பிரச்சாரம் செய்யுமாறு கேட்டுக் கொண்டார். அப்பொழுது “கம்யுனிலிஸத்துடன் ஜோடி சேர்கிறார், ஓட்டுவங்கி அரசியல் நடத்த்ய்கிறார்ரென்றெல்லாம் காங்கிரஸ்காரர்கள் இவரைக் கடுமையாக சாடினார்கள்[1]. மீம் அப்சல் என்ற காங்கிரஸ் கட்சி ஊடக பேச்சாளர், அரவிந்த் கேசரிவாலின் அரசியல் ஆர்.எஸ்.எஸ்ஸை ஆதரிப்பதில் உள்ளது, அதனால் முஸ்லிம்களை கால்பந்து போல நினைக்கிறார்”, என்று எதிர்ப்புத் தெரிவித்தார்[2]. அரவிந்த் கேசரிவாலோ அதெல்லாம் எனக்குத் தெரியாது, என்று சப்பைக்கட்டியதோடு, ஏதோ பெரிய இஸ்லாமிய பண்டிதர் போல, முப்தியால் தான் பத்வா போட முடியும், மௌலானாவால் பத்வா போட முடியாது என்று விளக்கம் கொடுத்தார். வேடிக்கையென்னவென்றால், இதனை எந்த முப்தியோ, மௌலானாவோ தவறு அல்லது சரி என்று சொல்லவில்லை, இல்லை என்ன காபிராகிய நீர், எங்கள் மதவவிசயங்களைப் பற்றி வியாக்யானம் செய்கிறாயே, என்று கண்டிக்கவில்லை.

Digvijay and Tauqeer together 2013

காங்கிரஸ் ஊக்குவிக்கும் சாமியார்கள்: காங்கிரஸுக்கு நெருங்கிய சாமியாரான, ஆச்சார்யா பிரமோத் கிருஷண் என்பவர் இந்த நிகழ்ச்சியை ஏற்பாடு செய்திருந்தார்[3]. அது மட்டுமல்லாது மோடிக்கு எதிராக பேசும் சாமி என்றும் குறிப்பிடத் தக்கது[4]. பல போலி சாமியார்கள் மோடிக்கு ஆதரவாக இருக்கிறார்கள் என்றும் பேசி வருகிறார். பாபா ராம் தேவ் விசயத்தில், அவர்க்கு எதிராக செயல்பட்டு வருகிறார். பாலகிருஷ்ணனின் போலி பாஸ்போர்ட் வழக்கில் பங்கு கொண்டுள்ளார்[5]. இவர் பேசும் விதம், நடந்து கொள்ளும் போக்கு முதலியவற்றைப் பார்க்கும் போது, காங்கிரஸுக்கு சார்பாக, இந்து நலன்களுக்கு எதிராக செயல்படுவது நன்றாகத் தெரிகிறது. இதனால், இந்து சந்நியாசிகளின் ஒற்றுமை குலைகிறது. அதாவது, சந்நியாசிகள், மடாதிபதிகள் ஒற்றுமையாக இருக்கக் கூடாது, பிரிக்க வேண்டும் என்ற நோக்கத்தில், காங்கிரஸும், காங்கிரஸ் ஆதரவு சந்நியாசிகளும் வேலை செய்கின்றனர் என்ரும் தெரிகிறது.

some-swami, Tahil Ali, Dig, Tauqir Raza, Acharya Pramod Krishan

மதவெறிக் கொண்டவர் “இந்து-முஸ்லிம்” பாடுபடப் போகிறாராம்: “கல்கி மஹோத்சவம்” என்ற நிகழ்சியில் கலந்து கொண்டபோது, 10-11-2013 அன்று தனக்கு வலது பக்கத்தில் தாரிக் அன்வர் [Union Minister of State for Agriculture Tariq Anwar] மற்றும் இடது பக்கத்தில் தௌகீர் ராஸா கான் உட்கார்ந்து கொண்டிருந்தனர். இவர்கள் எல்லோருமே ஒரே மேடையில் உட்கார்ந்து கொண்டிருந்தனர். நடுவில் திக்விஜய் நன்றக குனிந்து, தௌகீர் ராஸா கானின் பின்பக்கத்தில் ஸ்வாமியுடன் ஏதோ பேசியதும் வீடியோவில் தெர்கிறது[6]. அதாவது அந்த அளவிற்கு நெருக்கமாக இருக்கின்றனர் என்ரு காட்டிக் கொள்கின்றனர். திக்விஜய் சிங்கோ, தௌகீர் ராஸா கானைப் புகழ்ந்து, அவர் ஸ்வாமியுடன் சேர்ந்து கொண்டு “இந்து-முஸ்லிம் ஒற்றுமைக்காகப் பாடுபடுகிறார். பசுக்களை பாதுகாக்க வேண்டும் என்று பேசியுள்ளார்[7], என்று பாராட்டி பேசினார்[8]. மக்கள் இதையெல்லாம் தெரிந்து கொள்ளவேண்டும். அவரை மதவாதி போல பார்க்கக் கூடாது என்றெல்லாம் விளக்கினார்.

Beware of anti-Hindu hindus

கோசாலையைத் திறந்து வைத்து பசுவதையைப் பற்றி பேசினாராம்: தௌகீர் ராஸா கான் ஆயிரக்கணக்கில் பசுக்கள் கொலைசெய்யப்பட்டு, வெளிநாடுகளுக்கு ஏற்றுமதி செய்யப் படும் முறையை எதிர்க்கிறேன். இப்படியே பசுக்கள் கொல்லப்பட்டால், நாளைக்கு குழந்தைகள் குடிக்க பாலே இருக்காது, என்று ஒரு பசு காப்பகத்தைத் திறந்து வைக்கும் போது பேசினார்[9]. பிறகு தௌகீர் ராஸா கான், ஊடகக்காரர்களுடன் பேசும் போது, தான் மதவாதம் மற்றும் ஊழலுக்கு எதிராக போராடுவதாக தெரிவித்தார். பத்வா விசயத்தில் தமக்கு எந்த தொடர்பும் இல்லை என்றும் மறுத்தார்[10].

TAUQEER REZA KHAN

காங்கிரசஸின் வஞ்சக திட்டம்: முன்னர் ராமஜன்ம பூமி விசயத்தில், காங்கிரஸே முந்தி கொண்டது. முலாயம் சிங் யாதவோ, கரசேகர்களின் மீது துப்பாக்கி சூடு நடத்தி, இந்துக்களைக் கொன்று, முல்லாயம் சிங் யாதவ் ஆனார். இப்பொழுது, சோனியா இந்து சாமியார்களைப் பிரிக்க சட்ய்ஹி செய்து கொண்டிருக்கிறார் என்று தெரிகிறது. பதவி, பணம், அதிகாரம் இருப்பதனால், சோனியா இவர்களை சுலபமாக வளைத்து விடுகிறார் என்று தெரிகிறது. ஒவ்வொரு இந்து எழுச்சியையும் அடக்க இவ்வாறான எதிர்மறையான செயல்களை செய்து வருவது தெரிகிறது. முன்னர் அஜாரே ஆர்.எஸ்.எஸ் தூண்டுதல் பேரில் தான், ஊழல் எதிர்ப்பி போராட்டம் நடத்துகிறார் என்பது போல செய்தி வந்தது. அவர் ஒதுங்கிக் கொண்டார். அரசியல்வாதிகளை எதிர்ப்பதானால், கட்சி தொடங்கி தேர்தலில் நில்லுங்கள் என்ரு கபில் சிபல் சவால் விட்டார். இவ்விதமாக காங்கிரஸ் ஊழல் எதிர்ப்பு மக்கள் இயக்கத்தை அடக்கியது. அரவிந்த கேசரிவால் கட்சி தொடங்கி அரசியலில் இறங்கி விட்டார். இதனால், காங்கிரசூக்குத் தான் ஆதாயம்.

© வேதபிரகாஷ்

11-11-2013


. [1] Earlier on November 1, Arvind Kejriwal met Maulana Tauqeer Raza Khan in Bareilly, which sparked a political conspiracy as Congress claimed that the AAP leader is playing a communal card ahead of the Assembly election in Delhi. http://www.niticentral.com/?p=155911

[2] Congress spokesman Meem Afzal had alleged that Kejriwal “whose politics originated with the backing of the RSS was trying to make Muslims a football” for electoral mileage.

http://ibnlive.in.com/news/after-kejriwal-digvijaya-singh-praises-tauquir-raza-khan/433353-3-242.html

[3] The function was organised by Swami Pramod Krishnan, who is said to have good relations with the Congress. Krishnan also praised the cleric and said people like him were needed to promote communal harmony in the country

[5] Pramod Krishnan, who is a litigant in the fake passport case filed against Balkrishan, even feared that Shankar Dev may have been killed by them as their guru knew of the fake documents that were submitted by him at Bareilly passport office to procure the passport.

http://www.tribuneindia.com/2012/20120806/dun.htm#7

[7] Speaking at the inauguration of Kalki Mahotsava here last night, Digvijay praised Raza, who enjoys minister of state rank in SP government in Uttar Pradesh, and said that he along with Acharya Pramod Krishnan have started a mission of Hindu-Muslim unity in the country.

http://economictimes.indiatimes.com/news/politics-and-nation/after-arvind-kejriwal-digvijay-singh-praises-controversial-muslim-clerictauqeer-raza-khan/articleshow/25562343.cms

[8] Dig vijay Singh on Sunday shared the stage with controversial Muslim cleric Tauqeer Raza Khan praised him for working for ‘Hindu-Muslim unity’. his party attacked AAP leader Arvind Kejriwal following his meeting with the religious leader.

http://zeenews.india.com/news/nation/digvijay-praises-tauqeer-raza-says-he-started-mission-of-hindu-muslim-unity_889072.html

[9] Inaugurating a cow shelter, Raza said the manner in which thousands of cattles were being slaughtered and exported to foreign countries was a matter of great concern and if it was not stopped a day would come when the children in the country would not get milk to drink.He said that a joint campaign was needed to save cattle.

http://ibnlive.in.com/news/after-kejriwal-digvijaya-singh-praises-tauquir-raza-khan/433353-3-242.html

[10] Tauqeer Razadenied having any hand in the violence. He has also denied that he had issued any “fatwa” against Taslima Nasreen.

http://www.deccanherald.com/content/368211/digvijay-shares-stage-039controversial039-cleric.html

Advertisements
Explore posts in the same categories: தஸ்லிமா நஸ்ரின், தௌகீர் ராஸா கான்

குறிச்சொற்கள்: , , , , , , , , , ,

You can comment below, or link to this permanent URL from your own site.

4 பின்னூட்டங்கள் மேல் “தலைக்கு பத்வா போட்ட மதவெறி பிடித்த தௌகீர் ரஸா கான் “இந்து-முஸ்லிம்” ஒற்றுமை, பசுவதை முதலியவற்றை ஆதரித்து போராடப் போகிறாராம்!”

  1. vedaprakash Says:

    तौकीर-दिग्विजय की गुफ्तगू के क्या हैं सियासी मायने?
    राजेंद्र सिंहसोमवार, 11 नवंबर 2013
    लखनऊUpdated @ 11:28 AM IST
    http://www.lucknow.amarujala.com/news/politics-lkw/taukeer-and-digvijay-meeting-in-stage/

    taukeer and digvijay meeting in stage
    संबंधित ख़बरें
    ‘सपा-भाजपा की मिलीभगत से हुए दंगे’
    राखी के बंधन को भुला बैठीं मायावती: राजेंद्र
    इत्तेहाद-ए-मिल्ली कौंसिल के अध्यक्ष और हथकरघा एवं वस्त्र उद्योग के सलाहकार मौलाना तौकीर रजा की रविवार को कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह और एनपीसी महासचिव एवं केंद्रीय राज्यमंत्री तारिक अनवर से गुफ्तगू पर सियासी अटकलें तेज हो गई हैं।

    मौलाना यूपी में सपा के साथ हैं तो दिल्ली में आम आदमी पार्टी (आप) का समर्थन कर रहे हैं।

    उनके अगले सियासी कदम पर सभी की नजरें हैं।

    तौकीर सूबे में सपा को लोकसभा चुनाव के लिए समर्थन दे रहे हैं। इसके लिए उन्होंने प्रदेश सरकार के सामने कई मांगें रखी हैं।

    पढ़ें- सपा की दूसरे चरण की रथयात्राएं शुरू

    कुछ पर कार्यवाही हो चुकी है और कुछ पर सिर्फ आश्वासन मिले हैं। वह कई बार सरकार के रवैये पर नाखुशी जता चुके हैं।

    लालबत्ती तक लौटाने की चेतावनी दे चुके हैं। कह चुके हैं कि सपा को समर्थन केवल यूपी तक सीमित है।

    साथ ही कहते रहे हैं कि अब केवल मोदी का डर दिखाकर मुस्लिम वोट हासिल नहीं किए जा सकते।

    उनके इन्हीं तेवरों के बीच पिछले दिनों बरेली में दरगाह शरीफ पर चादर चढ़ाने आए अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए उनसे समर्थन मांगा। मौलाना ने उनकी मदद का भरोसा दिलाया है।

    इस बीच रविवार को संभल में कल्कि महोत्सव में वह दिग्विजय सिंह और तारिक अनवर के साथ एक मंच पर रहे। उनमें गुफ्तगू भी हुई। एक-दूसरे की तारीफ भी की।

    दिग्विजय सिंह अल्पसंख्यक मामलों में कांग्रेस के नीति निर्धारक समझे जाते हैं। इसलिए इसके सियासी मायने निकाले जा रहे हैं।

    पढ़ें- ‘‌किसने रोका है, हजार दलित लीडर पैदा करें राहुल’

    यूं भी पिछले लोकसभा चुनाव में मौलाना तौकीर ने कांग्रेस का समर्थन किया था, लेकिन बाद में कांग्रेस ने नाराज हो गए।

    मुलाकात में सियासत नहीं: तौकीर
    मौलाना तौकीर ने ‘अमर उजाला’ से बातचीत में कहा कि दिग्विजय सिंह के साथ मंच शेयर करना महज इत्तेफाक है।

    कल्कि महोत्सव में उन्हें भी बुलाया गया और दिग्विजय सिंह को भी। दिग्विजय पहले भी वहां आते रहे हैं। कार्यक्रम सियासी नहीं था।

    मेरे दिग्विजय सिंह से निजी संबंध हैं। उनसे कोई सियासी गुफ्तगू नहीं हुई। मंच पर एक साथ बैठने और हल्की-फुल्की बातों के राजनीतिक मायने नहीं निकाले जाने चाहिए।

    ‘आप’ के मुद्दे मेरे भी मुद्दे
    मौलाना तौकीर ने कहा, जहां तक दिल्ली के चुनाव में ‘आप’ को समर्थन देने का सवाल है, हम उनके साथ हैं। ‘आप’ भ्रष्टाचार व सांप्रदायिक ताकतों के खिलाफ लड़ रही है।

    ये मुद्दे मेरे भी हैं। यदि कोई मुहब्बत में विश्वास करता है तो सभी का मुद्दा होना चाहिए। उन्होंने कहा, निजी व्यस्तताओं के चलते अभी दिल्ली जाने का कार्यक्रम नहीं बना है। पहले से कुछ प्रोग्राम लगे हैं।

  2. vedaprakash Says:

    अब दिग्विजय के ‘दागी’ से मिलने पर सियासत गरमाई
    Updated on: Sun, 10 Nov 2013 02:49 PM (IST

    http://www.jagran.com/news/national-now-digvijay-shares-dais-with-muslim-cleric-who-called-for-death-to-bush-taslima-10852044.html

    अब दिग्विजय के ‘दागी’ से मिलने पर सियासत गरमाई

    लखनऊ। उत्तर प्रदेश के बरेली दंगे के आरोपी मुस्लिम धर्मगुरू मौलाना तौकीर रजा खान से आम आदमी पार्टी के प्रमुख नेता अरविंद केजरीवाल की मुलाकत को लेकर उठा विवाद अभी शांत भी नहीं हुआ था कि अब कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह के साथ रजा एक मंच पर दिख गए। इससे राजनीति एक बार फिर गरमा गई है।

    पढ़ें : कांग्रेस के आरोपों पर भड़के तौकीर रजा

    दो दिन पहले तौकीर रजा के भाजपा से संबंध के खुलासे के बाद शनिवार रात दिग्विजय सिंह ने संभल में कल्कि महोत्सव में रजा के साथ मंच साझा किया। कांग्रेस महासचिव नें मंच से रजा की खूब प्रशंसा की और उन्हें एक सच्चा नेता बताया। वहीं रजा ने भी दिग्विजय के तारीफों के पुल बांधे। इस मंच पर एनसीपी नेता तारिक अनवर भी दिखाई दिए।

    पढ़ें : दंगा भड़काने के आरोपी तौकीर से मुलाकात पर विवादों में आए केजरीवाल

    गौरतलब है कि तौकीर रजा ने ही पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति जॉर्ज बुश की हत्या करने और बांग्लादेशी लेखिका तस्लीमा नसरीन का सिर काटने पर ईनाम देने की घोषणा की थी।

    पढ़ें : भाजपा के निशाने पर आए तौकीर

    कल्कि महोत्सव का आयोजन धर्मगुरू प्रमोद कृष्णन ने किया था। उन्होंने भी तौकीर रजा को एक अच्छा इंसान बताया और देश में सांप्रदायिकता के खात्मे के लिए उनकी जरूरत बताई। कृष्णन ने कहा कि दंगों में उन्हें गलत तरीके से फंसाया गया था। उन्होंने कहा कि तौकीर रजा गौ हत्या के खिलाफ देशव्यापी आंदोलन चलाएंगे।

    कांग्रेस पहले तौकीर रजा से अरविंद केजरीवाल के मिलने का विरोध कर रही थी लेकिन दिग्विजय के साथ रजा के मंच साझा करने के बाद वह बैकफुट आ गई है। अब अब कांग्रेस सफाई दे रही है कि तौकीर रजा पर लगे आरोप बेबुनियाद हैं और वह केजरीवाल से मुलाकात का सिर्फ इसलिए विरोध कर रही थी कि दिल्ली विधानसभा चुनाव में मुस्लिम वोट के लिए बरेली के मौलाना से मिलने की उन्हें क्या जरूरत है।

  3. vedaprakash Says:

    दिग्विजय सिंह और मौलाना तौकीर रजा ने किया मंच साझा
    http://www.samaylive.com/nation-news-in-hindi/political-news-in-hindi/238789/uttar-pradesh-bareilly-riots-maulana-taukir-reza.html

    दिग्विजय सिंह और मौलाना तौकीर रजा ने किया मंच साझा
    कल्कि महोत्सव

    उत्तर प्रदेश में बरेली दंगे के आरोपी मौलाना तौकीर रजा को लेकर एक बार फिर राजनीति गरमा गयी है.
    पहले अरविंद केजरीवाल के साथ और अब कांग्रेस के दिग्‍गज नेता दिग्विजय सिंह के साथ मुलाकात के बाद से सियासत शुरु हो गयी है.

    दो दिन पहले तौकीर के भाजपा से कनेक्शन का खुलासा हुआ तो शनिवार की रात में दिग्विजय सिंह ने उत्तर प्रदेश के संभल में काल्‍की महोत्‍सव में मौलाना तौकीर रजा के साथ मंच साझा किया था. कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने मंच में तौकीर रजा की खूब प्रशंसा की और उन्‍हें एक सच्‍चा नेता बताया.

    कल्कि महोत्सव कार्यक्रम धर्मगुरू प्रमोद कृष्णम ने कार्यक्रम का आयोजन किया था. प्रमोद कृष्णम ने भी कहा कि तौकीर रजा एक अच्छे इंसान हैं देश से सांप्रदायिकता के खात्मा के लिए उनकी जरूरत है. कृष्णम का कहना है कि दंगों में गलत तरीके से उन्हें फंसाया गया था.

    उन्होंने कहा कि तौकीर रजा गाय की हत्या के खिलाफ देशव्यापी आंदोलन करेंगे. इसी मंच पर एनसीपी नेता और केंद्रीय मंत्री तारिक अऩवर भी मौजूद थे.

    कांग्रेस पहले तो तौकीर रजा का विरोध कर रही थी लेकिन दिग्विजय के मंच साझा करने के बाद से बैकफुट पर आती नजर आ रही है. अब कांग्रेस सफाई दे रही है कि तौकीर रजा पर लगे आरोप बेबुनियाद हैं औऱ उसने केजरीवाल से मुलाकात का

    सिर्फ इसलिए विरोध कर रही थी कि दिल्ली की आप पार्टी को वोट बैंक के लिए बरेली के मौलाना से मिलने की क्या जरूरत है.
    गौरतलब है कि बरेली में एक नवंबर को अरविंद केजरीवाल के तौकीर रजा से मिलने पर राजनीति काफी गरमा गई थी

  4. vedaprakash Says:

    दिग्विजय सिंह ने मौलाना तौकीर रजा के साथ मंच साझा कर तारीफ के पुल बांधे
    http://aajtak.intoday.in/story/digvijay-singh-praises-maulana-tauqeer-raza-khan-1-746726.html

    भाषा [Edited by: मलखान सिंह] | संभल, 11 नवम्बर 2013 | अपडेटेड: 11:47 IST टैग्स: मौलाना तौकीर खान| दिग्विजय सिंह| अरविंद केजरीवाल
    ई-मेलराय देंप्रिंटअअअ

    कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव दिग्विजय सिंह ने एक समारोह में तौकीर रजा खान के साथ न सिर्फ मंच साझा किया, बल्कि उनकी जमकर तारीफ भी की. ये वही तौकीर रजा खान हैं, जिनसे मुलाकात करने पर अरविंद केजरीवाल के खिलाफ तमाम कांग्रेसी नेता उतर आए थे. यह देखना दिलचस्प होगा कि वही कांग्रेसी नेता क्या अब दिग्विजय सिंह को भी नसीहत देंगे?
    तौकीर को उत्तर प्रदेश सरकार में राज्य मंत्री का दर्जा हासिल है और वे इत्तेहाद-ए-मिल्लत के नेता हैं. संभल में शनिवार की देर रात शुरू हुए कल्कि महोत्सव के उद्घाटन समारोह में तौकीर के साथ मंच साझा करते हुए कांग्रेस महासचिव सिंह ने कहा, ‘मैंने तौकीर रजा के बारे में सुना था कि वह हिन्दू-मुस्लिम के बीच दंगा कराते हैं, मगर आज उनके विचार सुनकर ऐसा लगा कि यह आरोप सही नहीं हैं.’

    दिग्विजय सिंह ने कहा, ‘उनका बयान सुनकर ऐसा लगा कि वे उन पर आरोप लगाने वालों के मुंह पर तमाचा हैं.’ आचार्य प्रमोद कृष्णन के आमंत्रण पर कल्कि समारोह में पहुंचे सिंह ने यहां तक कहा कि आचार्य कृष्णन और तौकीर रजा को देश में हिन्दू मुस्लिम एकता के मिशन को लेकर निकल पड़ना चाहिए.

    मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके दिग्विजय सिंह ने वहां उनके सत्ता से बाहर होने के बाद से सत्ताधारी बीजेपी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, ‘मैंने मध्य प्रदेश में देश के पहले गौ सेवा आयोग का गठन किया था, मगर गौ सेवा के नाम पर राजनीति करने वाले जब सत्ता में आए तो उन्होंने गौ सेवा आयोग को भंग कर दिया.’

    जरूरत पड़ी अरविंद के लिए प्रचार करूंगा: तौकीर
    इस मौके पर एक गौशाला के उद्घाटन समारोह को संबोधित करते हुए तौकीर रजा ने कहा, ‘इल्जाम है कि हिन्दू गाय को पूजते हैं, जबकि हम गाय काटते हैं और खाते हैं. यह हमारे खिलाफ दुष्प्रचार है.’

    तौकीर ने दावा करते हुए कहा, ‘मुसलमान गाय का गोश्त कभी नहीं खाता. हकीकत में देश में बने वधशालाओं में हजारों जानवर काटे जा रहे हैं और उनका मांस विदेशों में भेजा जा रहा है. यह चिंताजनक स्थिति है. इस तरह से तो एक दिन ऐसा आएगा जब हमारे बच्चों को दूध भी नसीब नहीं होगा. हमें जानवरों को बचाने के लिए प्रयास करना होगा और इसके लिए सामूहिक मुहिम चलानी होगी.’

    जरूरत पड़ी अरविंद के लिए प्रचार करूंगा: तौकीर
    उनसे मुलाकात के बाद ‘आप’ के नेता केजरीवाल पर हो रहे विपक्षी हमलों की ओर इशारा करते हुए तौकीर ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि वह सच्चाई और अच्छाई की हर लड़ाई के साथ हैं तथा अरविंद केजरीवाल भी यही लड़ाई लड़ रहे हैं’

    उन्होंने कहा, ‘हम इसी समान सोच के साथ केजरीवाल से मिले थे. अब जो लोग हमारी मुलाकात पर सवाल उठा रहे हैं, वे उठाते रहें. यदि जरूरत पड़ी तो मैं अरविंद केजरीवाल के प्रचार में भी जाऊंगा.

    इस मौके पर संवाद्दाताओं से बातचीत में दिग्विजय ने चुनाव आयोग द्वारा सर्वेक्षणों पर रोक लगा देने के निर्णय को सर्वथा उचित करार देते हुए कहा कि यह जनतांत्रिक प्रणाली की जीत है.’

    समारोह में मौजूद केन्द्रीय कृषि राज्य मंत्री एवं राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता तारिक अनवर ने भी चुनाव आयोग के निर्णय को उचित बताते हुए कहा कि आयोग ने यह निर्णय सभी राजनीतिक दलों से विचार-विमर्श के बाद लिया है और इसे किसी पार्टी की जीत अथवा पराजय के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए.

    इसलिए विवादों में हैं तौकीर रजा खान
    तौकिर रजा पर 2010 में बरेली में दंगा भड़काने का आरोप लगा था और उनकी गिरफ्तारी भी हुई थी. इनके जेल से निकलते ही बरेली में फिर से दंगे हुए थे. रजा कभी जॉर्ज बुश और तसलीमा नसरीन के खिलाफ फतवा जारी करने को लेकर भी काफी विवादों मे रहे हैं. रजा अभी यूपी सरकार में राज्‍य मंत्री का दर्जा प्राप्त हैं. उन्‍हें हथकरघा और वस्त्रोद्योग के सलाहकार का पद दिया गया है.

    अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें. आप दिल्ली आजतक को भी फॉलो कर सकते हैं.

    और भी… http://aajtak.intoday.in/story/digvijay-singh-praises-maulana-tauqeer-raza-khan-1-746726.html


மறுமொழியொன்றை இடுங்கள்

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / மாற்று )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / மாற்று )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / மாற்று )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / மாற்று )

Connecting to %s


%d bloggers like this: